देश विदेश अभियान

दिंडोरीप्रणित श्री स्वामी समर्थ सेवामार्ग के प्रणेता सदगुरु प.पू पिठले महाराज तथा सदगुरु प.पू.मोरेदादा ने ५० वर्षपूर्व स्वामीसेवा के माध्यम से जनमानस को दुख: मुक्त करणे का संकल्प किया था|इस दिव्य संकल्प के लिये सदगुरु प.पू.पिठले महाराज को स्वयं पूर्णदत्तावतार श्रीपाद श्री वल्लभ महाराज ने दीक्षित किया और उनसे हिमायाल मे १२ वर्षे तथा श्रीक्षेत्र त्रिंबकेश्वर मे ३६ वर्षे तपस्या संपन्न करवा ली|

यही दिव्यता प.पू पिठले महाराजने सदगुरु प.पू.मोरेदादा मे रुपांतरीत कर दी | सदगुरु प.पू.मोरेदादा ने श्रीक्षेत्र दिंडोरी से संपूर्ण महाराष्ट्र में १५० से अधिक श्री स्वामी समर्थ सेवा केंद्रो के माध्यम से लाखो दिन-मलीन लोगोको दुख: मुक्ती कर उन्हे स्वयंपूर्ण बनाया |

पश्चात,यही कार्य वर्तमान मे प.पू. गुरुमाउली गत कई वर्षोसे गुजरात,कर्नाटक,आंध्रप्रदेश, इ. राज्यो में भव्य सत्संग-मार्गदर्शन कर रहे हैं | प.पू.गुरुमुली जी के आशीर्वाद से एवं आदरणीय नितीन भाऊ के मार्गदर्शन से देश-विदश श्री स्वामी सेवा अभियान की सन २०१२ से शुरुवात हुई | इस अभियान के अंतर्गत भारत के सभी राज्य एवं विदेश में यह श्री स्वामी कार्य पहुंचा कर सभी दुखी: पिडीतों का दुख: दूर करने का वृत उठाया है | इस विभाग की कार्य प्रणाली इस प्रकार है|

  • इस कार्य हेतू महाराष्ट्र से देश-विदेश अभियान हेतू प्रशिक्षित सेवेकरी नियमित रूप से विभिन्न राज्योंमें सेवा संपन्न करते हैं | सेवेकरीयोंको गुरुपीठ में विभिन्न विषयों का प्रशिक्षण दिया जाता है |
  • टीम में विभाजन होकर प्रशिक्षित सेवेकरी विभिन्न राज्योंमें सेवाकार्य करते है|
  • प्रचार-प्रसार हेतू हिंदी और अंग्रेजी भाषा में साहित्य उपलब्ध है | तथा त्रैमासिक पत्रिका भी उपयुक्त होती है |
  • प्रशिक्षित सेवेकरी जिस राज्य में सेवा अभियान के लिये जाते है वहां का सामाजिक,भौगोलिक तथा आध्यात्मिक परीक्षण किया जाता है |
  • कार्यक्रम पूर्व सेवा अभियान प्रचार हेतू वर्तमान पत्र,टीव्ही चॅनेल द्वारा तथा सभी लोगोंको पत्रक और फ्लेक्स द्वारा कार्यक्रम की जानकारी दी जाती है | सोशल मिडिया जैसे की Whatsaap,Facebook,Twitter आदी का भी उपयोग किया जाता है |
  • सेवा अभियान में विभिन्न यज्ञ-याग तथा स्वास्थ शिविरोका का नियोजन किया जाता है |तथा स्थानिय स्कुलों में ‘संस्कार और पार्यावरण संवर्धन ‘ विषयपर मार्गदर्शन किया जाता है |
  • सेवा अभियान में समस्या समाधान हेतू सत्संग का आयोजन किया जाता है|इसके साथ हि व्यक्तिगत रूप में समस्या का समाधान दिया जाता है |
  • कार्यक्रम की पूर्व संध्या पर श्री स्वामी समर्थ महाराज जी की झांकी शहर में विभिन्न परिसर में श्रद्धालुओं के दर्शन हेतू तथा कार्यक्रम की जानकारी देणे हेतू निकाली जाती है |
  • सत्संग कार्यक्रम में आदरणीय नितीन भाऊ विभिन्न विषयों का ज्ञान देते हुए श्रद्धालुओंको मार्गदर्शन करते है |
  • सत्संग पश्चात श्रद्धालु ,मुमुक्षीत भाविकोंके नियमित रूपसे सेवा की जानकारी हेतू सेवेकरी संपर्क बनाया राहते है |
  • श्री गुरुपीठ त्र्यंबकेश्वर में सभी सेवेकरी, श्रद्धालु एवं भाविकों को सेवा,संशोधन और प्रशिक्षण दिया जाता है |अधिक जानकारी: पासके श्री स्वामी समर्थ सेवा व आध्यात्मिक विकास मार्ग (दिंडोरी प्रणीत) केंद्राके सेवेकरी प्रतिनिधीसे संपर्क करें. २५५७-२२१७१० श्री रामरक्षा व विविध स्तोत्र मंत्रासेयुक्त ऐसे ग्रंथ पासके श्री स्वामी समर्थ सेवा केंद्रामे उपलब्ध अधिक जानकारी डाऊनलोड